मंथन

ग्रामीण भारत के उत्थान का मंत्र

सरकारी कर्मचारियों के वेतन आयोग की तर्ज पर किसान आय आयोग गठित करने की मांग जोर पकड़ रही है। तीन वर्ष पूर्व सबसे पहले मैंने किसानों के लिए सुनिश्चित मासिक आय के प्रावधान की मांग की थी। अब धीरे-धीरे देश हताश किसान समुदाय की आय सुरक्ष

ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो पुरूस्कार की रात

ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो पुरूस्कार की रात
उनके निर्णय पे निर्भर हमारी औकात की रात

हाय वो रेशमी कालीन पे फ़ुदकना उनका
रटे-रटाए हुए तोतों सा चहकना उनका
कभी देखी न सुनी ऐसी टपकती लार की रात

हाय वो स्टेज़ पे जाकर के गाना जय हो

समृद्धि के पीछे का सच

[देश में बढ़ती गरीबी और बदहाली की अनदेखी के कारणों पर प्रकाश डाल रहे हैं तरुण विजय]

राष्ट्रीय एकता पर राजनीति

राष्ट्रीय एकता परिषद की बैठक के निष्प्रभावी रहने के कारण बता रहे है हृदयनारायण दीक्षित

खतरे की घुसपैठ

[असम की अशांति के पीछे बांग्लादेशी घुसपैठियों की भूमिका देख रहे हैं बलबीर पुंज]

अमरनाथ प्रकरण को लेकर कश्मीर घाटी में अलगाववादियों ने जिस तरह विरोध प्रदर्शन किया उसकी एक झलक अब असम के मुस्लिम

सनातन धर्म की सहधर्मिता

[धर्म के नाम पर किसी भी तरह की कट्टरता को पूरी तरह अस्वीकार्य बता रहे हैं कैलाश बुधवार]

अलगाववाद की धारा

भारत का मन बेचैन है। वीएस नायपाल ने 'इंडिया, ए मिलियन म्यूटिनीज नाऊ' में ठीक लिखा है कि भारत लाखों विद्रोहों का देश है। जिहादी आतंकवाद राष्ट्रव्यापी है। भारत के गांवों और शहरों में यह लघु उद्योग की तरह पनपा है। केंद्र सहित तमाम राज

गाँधी जी के नाम खुली चिट्ठी

महात्मा गाँधी अहिंसावादी तरीकों से आज़ादी के समर्थक थे

करुणानिधि का कृत्य

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री करुणानिधि उस फटकार के सर्वथा योग्य है जो उन्हें उच्चतम न्यायालय से लगातार दो दिन सुननी पड़ी। आश्चर्य है कि पहले दिन की फटकार से उन्हें अपनी गलती समझ में नहीं आई।
 

Syndicate content