बाल कान्ड

।।श्री गणेशाय नमः ।।
श्रीजानकीवल्लभो विजयते
श्री रामचरित मानस
प्रथम सोपान
(बालकाण्ड)
श्लोक

वर्णानामर्थसंघानां रसानां छन्दसामपि। मङ्गलानां च कर्त्तारौ वन्दे वाणीविनायकौ।।1।।

Hindutva - A timeless and universal compilation of human wisdom

What is Hindutva?
*A timeless and universal compilation of human wisdom*
*(Narrow Meaning: The traditions and cultural heritage of the Indian sub-continent)*
 
The term "Hindutva" is derived from the two terms 'Hindu Tattva", which literally mean "Hindu Principles". Now the question is, what are Hindu Principles and what comprises the "Hindutva" Outlook?

श्री रामचरितमानस

श्री राम चरित मानस अवधी भाषा में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा 16-वीं सदी में रचा एक महाकाव्य है। श्री रामचरित मानस भारतीय संस्कृति मे एक विशेष स्थान रखती है। उत्तर भारत में रामायण के रूप में कई लोगों द्वारा प्रतिदिन पढ़ा जाता है । भग

विद्या की देवी मॉ सरस्वती

वीणा वादिनि सरस्वती विद्या की देवी के रूप में प्रतिष्ठित हैं। ज्ञान-विज्ञान, कला, बुद्धि, मेधा, धारणा की अधिष्ठात्री शक्ति के रूप में भगवती सरस्वती की अर्चना की जाती है। आचार्य व्याडि के प्रसिद्ध कोष में वर्णित है कि श्री शब्द लक

वीणावादिनी की आराधना का दिवस

रूपं देहि यशो देहि भाग्यं भगवति देहि मे। धर्म देहि,धनं देहि सर्व विद्या प्रदेहि मे॥
  

Syndicate content