तुलसीदास

श्री रामचरितमानस

श्री राम चरित मानस अवधी भाषा में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा 16-वीं सदी में रचा एक महाकाव्य है। श्री रामचरित मानस भारतीय संस्कृति मे एक विशेष स्थान रखती है। उत्तर भारत में रामायण के रूप में कई लोगों द्वारा प्रतिदिन पढ़ा जाता है । भग

Syndicate content