परमाणु करार

तर्को से परे वाम दल

असैन्य परमाणु समझौते पर मतभेद दूर करने के लिए गठित समिति की दूसरी बैठक में भी कोई नतीजा न निकलने पर आश्चर्य नहीं। संभवत: इस समिति की आगामी बैठकें भी परिणाम विहीन रहेंगी, क्योंकि वाम दल तो यह ठान चुके हैं कि उन्हें इस समझौते पर अपनी

विचित्र मोड़ पर राजनीति

परमाणु करार पर विवाद के कारण नए राजनीतिक समीकरण बनते देख रहे है मोहन सिंह

परमाणु करार:वाम दलों की अंध दृष्टि

भारतीय कम्युनिस्टों के बारे में ऐतिहासिक अनुभव यह है कि जब वे देशहित की बात करतें है तब वे वास्तव में देश को क्षति पहुंचाते नजर आते है, जब वे अर्थव्यवस्था या आम आदमी की स्थिति पर चिंता जताते है तब उसे और दरिद्र व असहाय बनाने का प्र

Syndicate content