दृष्टिकोण

आर्थिक चिंतन- डा.भरत झुनझुनवाला

रिजर्व बैंक ने अपनी वार्षिक रपट में कृषि की गिरती विकास दर पर चिंता जताई है। कृषि की विकास दर 80 के दशक में 4.4 फीसदी थी, जो नौवें दशक में 3.2 रह गई और वर्तमान में 2.3 फीसदी तक गिर चुकी है। गिरती विकास दर का अर्थ है कि कृषि उत्पादन में वृद्धि

अतीत भंजक कांग्रेस

शपथपत्र मामले में कांग्रेस की खोखली पंथनिरपेक्षता इंगित कर रहे है राजनाथ सिंह सूर्य 
 

विभाजन की भारी भूल

भारत में अंग्रेजी राज समाप्त होने के बाद सत्ता हस्तांतरण में की गई हड़बड़ी को याद कर रहे है डा.महीप सिंह 
 

कट्टरता से लड़ने की राह

आतंकवाद के खिलाफ वातावरण बनाने में मुस्लिम बुद्धिजीवियों की भूमिका महत्वपूर्ण मान रहे है डा.महीप सिंह 

विचित्र मोड़ पर राजनीति

परमाणु करार पर विवाद के कारण नए राजनीतिक समीकरण बनते देख रहे है मोहन सिंह

परमाणु करार:वाम दलों की अंध दृष्टि

भारतीय कम्युनिस्टों के बारे में ऐतिहासिक अनुभव यह है कि जब वे देशहित की बात करतें है तब वे वास्तव में देश को क्षति पहुंचाते नजर आते है, जब वे अर्थव्यवस्था या आम आदमी की स्थिति पर चिंता जताते है तब उसे और दरिद्र व असहाय बनाने का प्र

जंग की शक्ल में जेहाद

जेहाद के नाम पर बढ़ रहे आतंकवाद को तीसरे विश्व युद्ध के रूप में परिभाषित कर रहे हैं हृदयनारायण दीक्षित 

Syndicate content