धोनी को कप्तान चुनना सही फैसला: गावस्कर

सुनील गावस्कर ने कहा कि चयनकर्ता भविष्य की ओर देख रहे है।
   भारतीय चयनकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए गावस्कर ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि चयनकर्ताओं के पास भारत की एक दिवसीय टीम का कप्तान चुनने के लिए बहुत ज्यादा विकल्प थे। चयनकर्ता शायद पीछे जाने की बजाय भविष्य पर नजर रखना चाहते थे वरना उनके पास सौरव और सचिन को चुनने का विकल्प भी था।' पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, 'पुराने सिपाहियों से समस्या का समाधान नहीं हो सकता था अच्छा ही हुआ कि चयनकर्ताओं ने भविष्य को ध्यान में रखते हुए कप्तान का चयन किया।'
  
   गावस्कर का मानना है कि धोनी के लिए कप्तानी की डगर आसान नहीं होगी क्योंकि उसे विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया से सात एक दिवसीय मैचों में टक्कर लेनी है। लेकिन गावस्कर ने कहा, 'धोनी ट्वंटी 20 विश्व कप में अपने प्रदर्शन से प्रभावित कर रहे है विशेषकर उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ हुए मैच के दौरान आत्मविश्वास दिखाया।' उन्होंने कहा, 'धोनी शांत और केंद्रित रहे जबकि बहुत से कप्तान तनाव या दबाव के मौकों पर अपनी बांहे उठाने लगते है या अपने नाखून चबाने लगाते हैं।' उन्होंने कहा, 'धोनी ने ऐसा कुछ नहीं किया। वह अपने आप में बहुत नियंत्रित लग रहे थे। जो एक कप्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है।' इस अनुभवी पूर्व कप्तान ने कहा, 'नेता अगर अपने आप पर नियंत्रण रखने में कामयाब हो रहा है तो वह दूसरों को भी नियंत्रित कर सकता है।'